Thursday, 15 December 2011

गांधीगीरी

गांधीगीरी आज अधिक प्रासांगिक है। आजादी की सुरक्षा, मानव अधिकारों के संरक्षण, पैसों से वोट खरीद फरोख्त, भ्रष्टाचार और कालेधन की अजगरी विषाक्तता से मुक्ति पाने के लिए गांधीवाद, अहिंसा, जन-जागरुकता, एकजुटता जरूरी है।
भ्रष्ट अधिकारियों, नेताओं को आजन्म कारावास दिया जाना चाहिए।
गांधी वादी अन्ना हजारे का आंदोलन जनजागरण और राष्ट्रवाद को सुदृढ़ करने का उचित कदम है। जन-लोकपाल देश के लिए जरूरी है।
आज के संदर्भ में भारतीय जनगण को अपने अधिकारों और कर्तव्यों के प्रति जागरूक होना है। उससे सत्ता पक्ष और विपक्ष के लिए राष्ट्रहित में काम करने का मार्ग प्रशस्त होगा। समाज में छाई बुराई, अराजकता, सरकारी धन की लूट, नेताओं की मनमानी  और साजिशों से जनता एकजुट होकर सावधान रहे। अपने वोट का सही इस्तेमाल करे। अच्छे वेदाग प्रतिनिधि को ही चुने। वोट दे। यही देश की स्वतंत्रता की सुरक्षा और विकास का सही रास्ता है।

No comments:

Post a Comment