Friday, 20 June 2014

राष्ट्रसंघ में हिन्दी

श्री राजनाथ सिंह
माननीय गृहमंत्री, भारत
गृहमंत्रालय
नार्थ ब्लॉक
नई दिल्ली - 110 001

संभवतः आगामी सितम्बर 2014 में राष्ट्ररसंघ महासभा अधिवेशन को माननीय नरेन्द्र मोदी, भारत के माननीय प्रधानमंत्री, हिन्दी में संबोधित करेंगे।

राष्ट्रीय हिन्दी अकादमी से  जुड़े हजारों हिन्दी प्रचारकों, साहित्यकारों, विद्वानों का विनम्र प्रस्ताव है कि उस समय माननीय प्रधानमंत्री हिन्दी को राष्ट्रसंघ की भाषा घोषित करने की कृपा करें। यह राष्ट्रीय हित में ऐतिहासिक कदम होगा।

-डॉ. स्वदेश भारती
अध्यक्ष
राष्ट्रीय हिन्दी अकाम

गृह मंत्रालय, भारत सरकार में अब संपूर्ण कार्य हिन्दी में

अब से हिन्दी का प्रयोग गृह मंत्रालय के समस्त कार्यों हेतु होगा। मोदी सरकार का यह निर्णय सराहनीय और ऐतिहासिक है। यह भारतीय भाषा, साहित्य एवं संस्कृति के विकास, संवर्धन और राष्ट्रीय गौरव के लिए अत्यंत आवश्यक भी है। नई सरकार के इस अभूतपूर्व निर्णय से साहित्यकारों, हिन्दी प्रचारकों, विद्वानों में प्रसन्नता है।
इस संदर्भ में किसी भी प्रकार का राजनैतिक तथा स्वार्थपरक विरोध नहीं होना चाहिए। जो राष्ट्रीयता के हित में कदापि नहीं होगा। नई सरकार को बधाई।
                                             - स्वदेश भारती,  (साहित्यकार)
                                            अध्यक्ष, राष्ट्रीय हिन्दी अकादमी

                                                             कोलकाता।