Sunday, 11 March 2018

महाकवि स्वदेश भारती जी का देहावसान


कोलकाता, 10 मार्च। हिन्दी के सुप्रसिद्ध कवि स्वदेश भारती का दिनांक 10 मार्च 2018 को सीएमआईआर (बिड़ला हॉस्पिटल), कोलकाता में देहावसान हो गया। डॉ. स्वदेश भारती प्रेमचन्द्र नोबेल पुरस्कार से सम्मानित थे अब तक इनकी 118 उपन्यास, काव्य, लेख, कविता प्रकाशित हो चुके हैं। हिन्दी के बहुचर्चित कवि स्वदेश भारती जी हिन्दी हिन्दी काव्य के जनक माने जाते हैं। राष्ट्रीय हिन्दी अकादमी, रूपाम्बरा के अध्यक्ष थे। कवि सम्राट स्वदेश जी के निधन से हिन्दी जगत को अपूरणीय क्षति हुई है।