Wednesday, 1 January 2014

नव वर्ष मंगलमय हो

मेरे आत्मीय पाठकों, सभी मित्रों, अभिभावकों, 
राष्ट्रीय हिन्दी अकादमी के सदस्यों एवं  परिवार जनों को 

नव वर्ष - 2014 की 

हार्दिक शुभकामनाएं

आप स्वस्थ, सानन्द, सुखी, सुरक्षित रहें। 
आनन्द तरंगित नदी प्रवाह बने
उत्कर्ष की ऊंचाईयों से
अनन्त कीर्ति और सुयश की ओर आत्मविभोर बहें


                        उत्तरायण (कोलकाता)                                                  - स्वदेश भारती
                       1 जनवरी 2014

No comments:

Post a Comment