Sunday, 7 January 2018

गुनता हूं इस युग की बानी
बरसे बादल भीगें पानी
राजनीति की यही कहानी
नेता बादल जनता पानी


सच्चाई का दर्द होता है
झूठ का बेदर्द होता है
हिम्मत से मर्द होता है
झूठ में बेपर्द होता है


लक्ष्य तक पहुंचने के लिए
दिल में हौसला चाहिए
त्याग और सेवा से
लोगों का भला चाहिए।

No comments:

Post a Comment