Monday, 30 November 2015

असहिष्णुता

स्वतंत्र अभिव्यक्ति धर्म निरपेक्षता, सामाजिक धार्मिक समरसता, समता, न्याय और विकास हमारे संविधान का मूलमंत्र है। परन्तु देश में जो विद्वेशपूर्ण असहिष्णुता का तनाव व्याप्त है, वह हमारी स्वतंत्रता के लिए खतरा है। स्वस्थ राजनीति लोगों को जोड़ती है, तोड़ती नहीं। जो राजनीति देश को तोड़ती है तनाव का माहौल बनाती है, वह हमारे लिए अत्यंत घातक है।

No comments:

Post a Comment