Thursday, 12 November 2015

दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं

प्रिय बंधु,



दीपावली की ज्योति-मल्लिका
भर दे जीवन में
आलोक भरा स्नेह, प्यार की सुनहरी भोर
और हो आकांक्षा का विस्तार
चलते जाए आगे और आगे
विजय-यात्रा-पथ पर मंजिल की ओर...!
                         -  स्वदेश भारती

1 comment:

  1. आपकी यह उत्कृष्ट प्रस्तुति कल शुक्रवार (13.11.2015) को "इंसानियत का धर्म"(चर्चा अंक-2159) पर लिंक की गयी है, कृपया पधारें और अपने विचारों से अवगत करायें, चर्चा मंच पर आपका स्वागत है।
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ, सादर...!

    ReplyDelete