Tuesday, 24 July 2012

25वां अखिल भारतीय राजभाषा सम्मेलन, पुरी

रजत जयंती
25वां अखिल भारतीय राजभाषा सम्मेलन
राजभाषा प्रदर्नी, विशेष हिन्दी प्रशिक्षण कार्यशाला
अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी, राष्ट्रीय कवि सम्मेलन एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम
पुरी (ओड़िशा) 2-4 अक्टूबर 2012

भारत की स्वतंत्रता की 65वीं वर्षगांठ  एवं राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 143वीं जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित 25वां अखिल भारतीय राजभाषा सम्मेलन, अंतर्राष्ट्रीय साहित्य संगोष्ठी, विशेष हिन्दी प्रशिक्षण कार्यशाला एवं राजभाषा प्रदर्शनी।
पुरी (ओड़िशा में 2-4 अक्टूबर, 2012 को होटल तोशाली सैंड्स सभागार में विशेष हिन्दी प्रशिक्षण कार्यशाला द्वारा हिन्दी अधिकारियों एवं कार्यपालकों को राजभाषा के प्रचार-प्रसार हेतु कार्यकुशलता तथा व्यापक प्रिक्षण प्रदान करने की योजना।
राजभाषा प्रदर्शनी में सम्मिलित संस्थानों को दुरदर्शन, राष्ट्रीय मीडिया, समाचार पत्रों द्वारा व्यापक स्तर पर प्रचारित, प्रसारित, किया जायेगा।
भारत में अनेक मतावलम्बी एवं बहुभाषा-भाषी लोग रहते हैं और हिन्दी उनके बीच एक सम्पर्क भाषा का काम कर रही है। हिन्दी मात्र एक भाषा नहीं है, बल्कि यह हमारे राष्ट्र की एकता और अखंडता की सांस्कृतिक धारा है। यह समूचे राष्ट्र की हृदयवाणी है तथा करोड़ों लोगों में भावनात्मक संबंध बनाने की आत्मीय क्षमता रखती है। विश्व में विज्ञान और प्रोद्यौगिकी के क्षेत्र में आज तेजी से विकास हो रहा है। अतः हम वैश्वीकरण के इस परिवर्तित परिवेश में विश्वभाषा हिन्दी के उन्नयन के लिए सामूहिक रूप से नये उपाय, नए सीमांत अन्वेषण कर रहे हैं। राष्ट्रीय हिन्दी अकामदी, रुपाम्बरा द्वारा गांधी जयंती के ही दिन 25 वर्षों से लगातार अखिल भारतीय राजभाषा सम्मेलन के आयोजन हो रहे हैं। यह राष्ट्रीय एकता एवं अखण्डता के  लिए ऐतिहासिक प्रयास है।
देश के हिन्दी प्रेमियों का हार्दिक सहयोग अपेक्षित है।
नामांकन भेजने की अंतिम तिथि 08.08.2012 है।
विवरण प्राप्त करें - सचिव, राष्ट्रीय हिन्दी अकादमी, रुपाम्बरा, 3 जिब्सन लेन, कोलकाता - 700 069
टेलीफैक्स  033-22135102, ईमेल - editor@rashtrabhasha.com, (Mo.)09831155760

No comments:

Post a Comment