Monday, 27 April 2015

एक अपील

मानीय प्रधानमंत्री जी ने 12 देशों की यात्राएं की। रोचक भाषण दिए। सम्मानित हुए। बहुत सारे व्यापारिक, सामरिक, सांस्कृतिक समझौते किए। देश का नाम ऊपर उठाने का भरपूर प्रयत्न किया, परन्तु किसानों की आत्महत्या का जो लगातार क्रम चल रहा है, उसके प्रति सरकार की असहज संवेदना से अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत की छवि, प्रसिद्धि, बड़बोलेपन का ग्राफ नीचे गिरता जा रहा है। यह देश के लिए अत्यंत शर्मनाक और घातक स्थिति है। इसे तुरन्त दूर करना माननीय मोदी जी तथा उनकी सरकार का प्रमुख दायित्व है।         -          डॉ. स्वदेश भारती






नेपाल और भारत में भूकम्प की जो विनाश लीला हुई और होने वाली है। उससे आम आदमी का जीवन खतरे में पड़ गया है। यह बहुत बड़ी दैवी विपत्ति है। नेपाल और भारत के सभी लोगों से यह उम्मीद करता हूं कि वे आत्म विश्वास से इस दैवी विपत्ति का सामना करने का साहस जुटाएं। ईश्वर से प्राथना है कि मनुष्य को और प्रकृति को शांति पूर्वक जीवनयापन का अवसर प्रदान करें। इस विनाश लीला में मरे हुए भाईयों, बहनों एवं बच्चों की आत्मा को शांति प्रदान करें तथा संकट में फंसे लोगों का उद्धार करें।            - डॉ. स्वदेश भारती

No comments:

Post a Comment